How to get relief from periods pain

पीरियड्स दर्द से राहत

हेलो दोस्तों, उम्मीद करती हूं कि आप सभी ठीक होंगें।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि वर्तमान समय में बहुत से लोग ऐसी बीमारियों से पीड़ित हैं जिनका इलाज संभव नहीं है , वैसे ही पीरियड्स का दर्द भी उनमें से एक है।

 

पीरियड या माहवारी शब्द सुनते ही हर किसी के मन में एक दर्द भरा एहसास महसूस होने लगता है लेकिन यह एक प्राकृतिक चक्र होता है जो हर लड़की के जीवन में यह अवसर निश्चित समयावधि के लिए आता है जिसका अनुभव विश्व की प्रत्येक लड़की करती है ।लड़कियों के शरीर में पीरियड की शुरुआत होने का प्रतीक है कि उनका शरीर अपने आप को संभावित गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) के लिए तैयार कर रहा है।

 

 

परिभाषा :‌‌-

पीरियड या माहवारी एक सामान्य प्राकृतिक जैविक प्रक्रिया है जिसमें आपके यूटेरस ( वो संरचना है, जिसमें प्रेगनेंसी के दौरान बच्चा पलता-बढ़ता है) के अंदर से रक्त और ऊतक, वजाइना (जननांग) के द्वारा बाहर निकल जाते हैं। यह आमतौर पर महीने में एक बार होता है।

 

 

पीरियड को अनेक  नाम  से  जाना जाता है।

1-मासिक धर्म

2- माहवारी

3- रजोधर्म,

4- मेंस्ट्रुअल साइकिल

5- एमसी और

6- पीरियड्स

 

 

पीरियड कितने साल तक होता है ?

 

बदलते वातावरण के कारण लड़कियों को पीरियड्स समय से पहले आने लगे हैं।पीरियड्स आने की सही उम्र 12 साल होती है। वहीं उम्र बढ़ने पर पीरियड्स खत्म भी हो जाते हैं।

 

पीरियड्स शुरू होने की उम्र :- 8 से 15 साल

पीरियड्स खत्म होने की उम्र:- 45 से 50 साल

 

पीरियड्स के लक्षण निम्न प्रकार के होते हैं:

 

  • कमर में दर्द होना जैसे अकड़न ने कमर को दर्द से पकड़ रखा हो ।
  • पैरों में दर्द होना या अकड़न आना

पेट में बहुत तेज की दर्द उठना

  • कमजोर महसूस होना हाथ पैर में खिचाओ का महसूस होना
  • मूड स्विंग भी होने लगते हैं
  • चिड़चिड़ापन आना और बहुत जल्दी गुस्सा होना चुप रहने का मन करता है
  • ब्रेस्ट में दर्द या साइज में होते है बदलाव महसूस होना

 

पीरियड्स के दिन ?

 

4 से 8 दिनों तक पीरियड नॉर्मल माना जाता है और कभी कभी 10 दिनों तक भी।“ यदि आपके पीरियड कभी – कभी लंबे समय तक रहते हैं तो घबराएं नहीं यह हार्मोनस में बदलाव के कारण हो जाता है जो कुछ समय में ठीक हो जाता है।

 

 

पीरियड्स के दर्द से राहत पाने के उपाय:

 

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि वर्तमान समय में बहुत से लोग ऐसी बीमारियों से पीड़ित हैं जिनका इलाज संभव नहीं है , वैसे ही पीरियड्स का दर्द भी उनमें से एक है।

लेकिन आपको यह जानकर बेहद खुशी होगी कि आप इस दर्द से कुछ ही मिनटों में छुटकारा पा सकते हैं।

यह एक आम समस्या है जो महिलाओं को अक्सर परेशान करती है। इस समस्या का हल है – काली चाय (बिना दूध की चाय) दर्द से राहत का उपाय है। जिसे आप बहुत ही आसानी से बना सकते हैं  विधि नीचे लिखी गई है:

 

ये रही इसकी विधि.

1 – 1 कप पानी,

2 – मनपसंद चाय पत्ती (स्वाद के अनुसार से थोड़ा अधिक)

3 – चीनी ( स्वाद के लिए )

4 – इलायची ( स्वाद के लिए )

 

 

रेसिपी :-

1 – काली चाय बनाने के लिए सबसे पहले पानी को तेज़ आंच पर गरम करें ।

2 – एक मिनट तक पानी को गर्म होने दें (जब तक पानी में छोटे-छोटे बुलबुले न दिखने लगें)।

3- जब पानी में बुलबुले आनें लगे तो चीनी डाल दीजिए । और गैस की आँच को तेज कर दीजिए। (चीनी पानी तब तक उबलें जब तक पानी में बहुत तेज उबल ना आ जाए )।

4- पानी तेज उबलने के बाद इलायची डालें 30 सेकंड तक उबलने दीजिए , फिर चाय की पत्ती डालें चाय के बर्तन को ढक्कन से ढक दें, गैस का धीमा कर दें, केवल एक या दो मिनट तक पकाएं।

 

इन चीजों का ख्याल रखें :-

( चीनी स्वाद से 6 से 8% अधिक और चाय पत्ती  स्वाद से 25 से 30% अधिक रखें )।

 

हेलो दोस्तों, उम्मीद करती हूं कि आप सभी  को यह नुस्खे के बारे में जानकर बेहद खुशी हुई होगी ।

स्वचछ खानपान करें और स्वस्थ रहें।

Leave a Comment